ऑनलाइन ऑर्डर किया था लैपटॉप, बॉक्स के अंदर निकला घड़ी साबुन

Flipkart Big Billion Days Sale: भारत में इन दिनों ई-कॉमर्स कंपनियों के फेस्टिव सीजन (Festive Season) की शुरुआत हो चुकी है, जिसमें ग्राहकों को सस्ते दामों में महंगे ब्रांड्स की चीजों को मुहैया करवाया जाता है। यह एक प्रकार की ऑनलाइन सेल होती है, जिसका इंतजार कई भारतीय बेसब्री से करते हैं।

हालांकि कई बार ऑनलाइन सेल में खरीदी गई चीजों की वजह से ग्राहक को परेशान होना पड़ता है, क्योंकि कंपनी द्वारा अजीबो गरीब सामान को डिलीवर कर दिया जाता है। ऐसा ही एक मामला हाल ही में सामने आया है, जब फ्लिपकार्ट (Flipkart) कंपनी ने लैपटॉप (Laptop) की जगह पर घड़ी साबुन (Ghadi Detergent) डिलीवर कर दिया था।

कंपनी ने लैपटॉप की जगह दिया साबुन

फ्लिपकार्ट (Flipkart) देश की जानी मानी ई-कॉमर्स वेबसाइट (E-Commerce) है, जिसकी मदद से घर बैठे किसी भी ब्रांड का सामान आसानी से ऑर्डर किया जा सकता है। ऐसे में आईआईएम अहमदाबाद के एक स्टूडेंट यशस्वी शर्मा (Yashaswi Sharma) ने फ्लिपकार्ट की बिग बिलियन डेज सेल (Flipkart Big Billion Days Sale) से एक लैपटॉप ऑर्डर किया था, जिसे वह अपने पिता को गिफ्ट करन चाहते थे। इसे भी पढ़ें – रिटायर्ड ASI ने घर में बनवाया माता-पिता का मंदिर, लोग कहते हैं कलयुग का श्रवण कुमार

लेकिन जब फ्लिपकार्ट की तरफ से यशस्वी को लैपटॉप डिलीवर किया गया, तो उस पैकेट के अंदर घड़ी साबुन का पैक मौजूद ता। यशस्वी ने तुरंत इस बात की शिकायत फ्लिपकार्ट के कस्टमर केयर डिपार्टमेंट से की, लेकिन कंपनी वालों ने अपनी गलती मानने से साफ इंकार कर दिया था।

इसके बाद यशस्वी ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर इस पूरी घटना का जिक्र किया, जबकि उन्होंने सबूत के दौर पर सीसीटीवी कैमरा की फुटेज दिखाने का दावा भी किया था। हालांकि इसके बावजूद भी फ्लिपकार्ट कंपनी ने अपनी गलती मानने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद यशस्वी ने सोशल मीडिया के जरिए इस पूरे मामले के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया था।

flipkart fraud post

यशस्वी के पिता से हुई थी छोटी-सी गलती

इस पोस्ट में यशस्वी ने अपने पिता द्वारा हुई एक गलती के बारे में भी जिक्र किया था, क्योंकि उन्होंने पैकेट खोले बिना ही डिलीवरी बॉय के साथ ओटीपी शेयर कर दिया था। दरअसल ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा ओपन बॉक्स की सुविधा दी जाती है, जिसके तहत ग्राहक डिलीवरी के समय बॉक्स को ओपन करके उसके अंदर मौजूद सामान को देख सकता है और उससे संतुष्ट होने के बाद ही मोबाइल फोन पर आए ओटीपी को डिलीवरी बॉय के साथ शेयर करता है। इसे भी पढ़ें – साढ़े चार लाख लोगों को पछाड़कर सोने में सबसे आगे निकल गई ये लड़की, जीता 6 लाख रुपए का ईनाम

लेकिन यशस्वी के पिता को इस सुविधा के बारे में कोई जानकारी नहीं थी, लिहाजा उन्होंने पैकेट खोले बिना ही डिलीवरी बॉय से पार्सल ले लिया और उसके साथ ओटीपी भी शेयर कर दिया था। जिसकी वजह से फ्लिपकार्ट कंपनी अपनी गलती मानने स इंसान कर रही थी, लेकिन जब यशस्वी द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया और उन्होंने कंपनी को टैग किया तो मामले के रूख बदल गया।

यशस्वी को पैसे वापस करेगी कंपनी

आखिरकार फ्लिपकार्ट कंपनी ने अपनी गलती मानते हुए कहा कि वह अपने ग्राहकों की सुविधा का पूरा ध्यान रखती है और किसी भी कीमत पर उनका भरोसा नहीं टूटने देगी। इसके लिए फ्लिपकार्ट की जीरो टॉलरेंस पॉलिसी है, जिसके तहत यशस्वी को उनके लैपटॉप के पैसे 3 से 4 दिनों के अंदर बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे और कंपनी ऐसी गलती करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही भी करेगी।

आपको बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान ग्राहक के साथ गड़बड़ी हुई है, बल्कि इससे पहले एक व्यक्ति ने सेल में आइफोन 12 खरीदा था लेकिन उसके घर पर 2 निरमा साबुन के पैक को डिलीवर कर दिया गया था। इसी तरह आइफोन 8 की जगह पर एक ग्राहक को डिटर्जेट बार मिला था, जिसकी वजह से ग्राहकों को अपना रिफंड वापस लेने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसे भी पढ़ें – ट्रक को बनाया चलता फिरता Marriage Hall, आनंद महिंद्रा ने कहा- मुझे इस क्रिएटिव आदमी से मिलना है