Children’s Day 2022 : क्यों मनाया जाता है बाल दिवस, जानें बच्चों से जुड़े जरूर अधिकार

Children’s Day 2022 : भारत में हर साल 14 नवंबर के दिन बाल दिवस यानी चिल्ड्रन्स डे मनाया जाता है, क्योंकि इस दिन देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिन होता है। जवाहर लाल नेहरू को छोटे बच्चे बहुत पसंद थे, इसलिए उनके जन्मदिन के मौके पर बाल दिवस मनाकर उन्हें याद किया जाता है।

भारत में साल 1964 को संसद में एक प्रस्ताव पारित किया गया था, जिसमें 14 नंवबर को पंडित जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) के जन्मदिन के मौके पर उनके सम्मान में बाल दिवस मनाने का ऐलान किया गया था। ऐसे में पंडित नेहरू की मृत्यु के बाद देश में बाल दिवस बहुत धूमधाम और हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है, जबकि इस मौके पर स्कूल और कॉलेज में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है।

बाल दिवस पर जानें बच्चों के अधिकार

पंडित जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) हमेशा चाहते थे कि भारत के बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त करें, इसलिए उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में काफी काम किया था। इतना ही नहीं पंडित नेहरू ने देश में बेहतरीन शिक्षा संस्थानों की भी शुरुआत की थी, जिसमें इंस्टीयूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) और इंडियन इंस्टीयूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम) का नाम शामिल हैं।

भारत में बाल दिवस के महत्त्व को देखते हुए बच्चों को कुछ विशेष अधिकार भी दिए गए हैं, जिसके तहत 6 से 14 साल के उम्र के सभी बच्चों को निःशुल्क प्राथमिक शिक्षा का अधिकार है। इसके अलावा इस उम्र के बच्चों को बेहतर देखभाल और खतरनाक रोजगारों से सुरक्षित रहने का अधिकार भी दिया गया है।

बच्चों को स्वास्थ्य और समान अवसर प्रदान करने का भी अधिकार है, जबकि अगर कोई व्यक्ति उनकी छोटी उम्र का फायदा उठाने की कोशिश करता है तो उन्हें इस तरह के दुरुपयोग से सुरक्षित रहने का अधिकार भी प्राप्त है। ऐसे में हर साल अलग-अलग थीम पर देश में बाल दिवस मनाया जाता है, जिसमें छोटे बच्चे बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें –