3 साल की FD पर सबसे ज्यादा ब्याज दे रहे हैं ये पांच बैंक, कम निवेश में ज्यादा फायदा

आज के महंगाई भरे दौर में आम आदमी के लिए घर खर्च पूरा करना बहुत ही मुश्किल हो गया है, जिसकी वजह से व्यक्ति बैंक खाते में पैसे होने के बावजूद भी उसे फिक्स करवाने से डरते हैं। इस डर की सबसे बड़ी वजह यह है कि तेल से लेकर कार तक हर चीज के दाम दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में कभी भी बैंक में जमा पैसों को निकालने की जरूरत पड़ सकती है।

लेकिन आज हम आपको देश के 5 ऐसे बैंकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अपने ग्राहकों को 3 साल का फिक्स डिपॉजिट (Fixed Deposit) करने का सुनहरा अवसर प्रदान कर रहे हैं। इतना ही नहीं इस एफडी में ग्राहक को अन्य बैंकों को मुकाबले ज्यादा ब्याज भी मिलेगा, जिसका लाभ एफडी पूरी होने पर उठाया जा सकता है।

FD पर 7 प्रतिशत ब्याज दे रहे हैं बैंक

अगर आप फिक्स डिपॉजिट (Highest return on FD) में अच्छा ब्याज प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक (AU Small Finance Bank), डीसीबी बैंक (DCB Bank), बंधन बैंक (Bandhan Bank), सिटी यूनियन बैंक (City Union Bank) और करूर वैश्य बैंक(Karur Vysya Bank) में से किसी एक बैंक में खाता खुलवाना होगा। यह पांचों बैंक एफडी पर अच्छा ब्याज दे रहे हैं, जिसमें एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक और डीसीबी बैंक की तरफ से 7.5 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है।

वहीं बंधन, सिटी यूनियन और करूर वैश्य बैंक फिक्स डिपॉजिट पर 7 प्रतिशत का ब्याज दे रहे हैं, जिसकी अवधि मात्र 3 साल होगी। आपको बता दें कि बैंकों द्वारा एफडी में ब्याज दर बढ़ाने की सबसे बड़ी वजह रेपो रेट है, जिसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से बढ़ाया जाता है। ऐसे में जब रेपो रेट बढ़ता है, तो बैंक एफडी की ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर देते हैं।

ऐसे में जब बैंक की तरफ से एफडी में ज्यादा ब्याज दिया जाता है, तो ग्राहक आसानी से पैसा निवेश कर देते हैं। इससे बैंक और ग्राहक दोनों को फायदा मिलता है, जबकि 3 साल की कम अवधि होने की वजह से ग्राहक को अपने पैसों के लिए ज्यादा लंबा इंतजार भी नहीं करना पड़ता है।

अगर आप इन पांच में से किसी एक बैंक में एफडी करने का प्लान कर रहे हैं, तो आपको आवेदन करते वक्त ऑटो रिन्यूवल के ऑप्शन से बचना होगा। दरअसल इस ऑप्शन की वजह से 3 साल की एफडी के पूरा हो जाने के बाद उसकी अवधि को ऑटोमेटिक तरीके से 3 साल के बढ़ा दिया जाता है, जिसकी वजह से ग्राहक को अपना पैसा प्राप्त करने के लिए अधिक इंतजार करना पड़ता है।

हालांकि अगर ग्राहक चाहे तो अपने पैसे को खुद 3 से ज्यादा सालों के लिए फिक्स कर सकता है, जिसमें ब्याज की दर कम या ज्यादा भी हो सकती है। लेकिन अगर आप सिर्फ 3 साल के लिए इस सेवा का लाभ उठाना चाहते हैं, तो उस स्थिति में ऑटो रिन्यूवल के ऑप्शन को खारिज कर दें।

इसे भी पढ़ें –