20 साल का बिजनेस छोड़ 60 साल के किसान ने शुरू की Thai Apple (बेर) की खेती, सलाना 40 लाख की कमाई

0
929
satbir-poonia-thai-apple-farming

वैसे सच ही कहा गया है कि जब आपके अंदर काम करने की ललक हो तो उम्र आपके लिए कोई मायने नहीं रखती। एक ऐसे किसान जिनकी उम्र तो नौकरी के हिसाब से रिटायरमेंट की हो चुकी है। लेकिन इस उम्र में भी उनका जोश और जुनून एक युवा की तरह है। 20 सालों तक बिजनेस करने के बाद अब वह Thai Apple (बेर) की खेती कर रहे हैं, जिससे उन्हें लाखों की आमदनी हो रही है।

हरियाणा के जींद (Jind) के रहने वाले किसान जिनका नाम सतबीर पूनिया (Satbir Poonia) है। इनकी उम्र हो चुकी है 60 वर्ष से भी अधिक। लेकिन इनके हौसले और जुनून में अब तक कोई कमी नहीं है। सतबीर सिर्फ़ 3 साल पहले थाई एप्पल (Thai Apple) , अमरूद और ऑर्गेनिक सब्जियों की खेती करना शुरू किए। आज के समय में वह पूरे 16 एकड़ ज़मीन पर खेती कर रहे हैं। खेती करने के साथ ही उन्होंने लगभग 10 लोगों को रोजगार भी प्रदान किया है। इस खेती से उनकी सालाना कमाई लगभग 40 लाख रुपए तक पहुँच चुकी है। अब तो लोग उन्हें बेर अंकल के नाम से ही जानते हैं।

satbir-poonia-thai-apple-farming

एग्रीकल्चर से ही बैचलर की पढ़ाई पूरी की है

सतबीर ने बताया कि उन्होंने एग्रीकल्चर से ही बैचलर की पढ़ाई पूरी की है और वह पहले पारंपरिक तरीके से खेती किया करते थे। जिसमें बहुत ज़्यादा फायदा नहीं हो रहा था। तब सतबीर ने पारंपरिक खेती को छोड़कर अपना बिजनेस शुरू किया जिसे उन्होंने लगभग 20 सालों तक किया। बिज़नेस में सब कुछ ठीक था, आमदनी भी अच्छी हो रही थी। लेकिन कहीं ना कहीं उनका बन खेती से ही जुड़ा था। सतवीर कुछ ऐसा करना चाहते थे जिससे वह बाक़ी लोगों के लिए भी आमदनी का ज़रिया बन सके। इसलिए उन्होंने खेती को चुना।

पहली बार Thai Apple की खेती करने में पूरे 25 हज़ार की लागत आई

सतबीर ख़ुद के बारे में बताते हुए कहते हैं कि उनका स्वभाव थोड़ा घूमने वाला है और उन्हें अलग-अलग जगहों पर घूमना बहुत पसंद है। सतबीर को घूमने के दौरान ही एक जगह Thai Apple (बेर) के बारे में पता चला। इसके बारे में पता चलने के बाद उन्होंने साल 2017 में रायपुर से बेर के पौधे मंगवाए। बेर के पौधे की क़ीमत प्रति पौधे 70 रुपए थी। सतबीर को पहली बार बेर की खेती करने में पूरे 25 हज़ार की लागत आई। उन्होंने बेर के पौधे के साथ अमरूद और नींबू के भी पौधे खेतों में लगाएँ।

लोगों ने Thai Apple की खेती के लिए सतबीर का काफ़ी मज़ाक भी उड़ाया

शुरुआती दिनों में तो लोगों ने थाई एप्पल (Thai Apple) की खेती के लिए सतबीर का काफ़ी मज़ाक भी उड़ाया। यहाँ तक कि उनके घर वालों को भी उनका थाई एप्पल (Thai Apple) की खेती करना बिल्कुल पसंद नहीं आया। सबका मानना था कि सतबीर जंगली पौधे की खेती कर रहे हैं। लेकिन पहली ही बार में थाई एप्पल का उत्पादन काफ़ी अच्छा हुआ। इसे सतबीर को काफ़ी प्रेरणा मिली।

उसके बाद वह और ज़्यादा ज़मीन में थाई एप्पल (Thai Apple) की खेती करने लगे। ज़मीन बढ़ते ही उन्होंने फलों के साथ सब्जियों की खेती की भी शुरुआत कर दी। अब तो उनके खेतों में लगभग 10 हज़ार से भी अधिक पौधे हैं। खेती के लिए सतबीर को हरियाणा के कृषि मंत्री द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

satbir-poonia-thai-apple-farming

पहले सब्जियों और फलों को मंडियों तक जाकर बेचना पड़ता था

मार्केटिंग के बारे में पूछने पर सतबीर कहते हैं कि शुरुआती दौर में उन्हें अपने उगाए हुए सब्जियों और फलों को मंडियों तक जा जाकर बेचना पड़ता था। लेकिन आगे चलकर उन्होंने काफ़ी जगहों पर ख़ुद का स्टॉल लगाना शुरू कर दिया और अब तो काफ़ी लोगों को मेरी खेती के बारे में जानकारी हो चुकी है, इसलिए ज्यादातर लोग खेत से ही फलों और सब्जियों को खरीद कर ले जाते हैं। लॉकडाउन के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि उस दौरान सब कुछ बंद होने के कारण उन्हें लोगों के घर-घर जाकर सब्जियों और फलों को पहुँचाना पड़ा।

21 लाख लीटर की क्षमता वाला एक टैंक तैयार किया

सतबीर ने कहा कि वह जिस जगह पर खेती करते हैं, वहाँ पानी की भी बहुत ज़्यादा समस्या है। पानी की समस्या को दूर करने के लिए तरीक़ा निकाला इस तरीके के अंतर्गत उन्होंने 21 लाख लीटर की क्षमता वाला एक टैंक तैयार किया। उसके बाद उसमें पानी को स्टोर करना शुरू किया, जिसकी मदद से वह अपने खेतों में आसानी से सिंचाई करते हैं।

satbir-poonia-thai-apple-farming

कैसे करते हैं थाई एप्पल बेर (Thai Apple) खेती

Thai Apple (बेर) की खेती के बारे में सतबीर ने बताया कि इसकी खेती साल में दो बार की जाती है। पहली खेती फरवरी से मार्च और दूसरी खेती जुलाई से दिसम्बर महीने में की जाती है। उन्होंने कहा कि बेर की खेती के लिए किसी ख़ास मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती। किसी भी मिट्टी में इसकी खेती आसानी से की जा सकती है।

इसकी खेती में पानी की भी कम आवश्यकता होती है। आपको सिर्फ़ एक सीजन में दो से तीन बार सिंचाई करने की आवश्यकता होती है। आजकल इस पौधे की कई प्रजाति यों को आप देख सकते हैं। इस पौधे को एक बड़े पेड़ में बदलने के बजाय आप इसे झाड़ीनुमा रखकर ही ज़्यादा फल प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको हर साल लगभग 5 से 6 इंच की कटाई करनी पड़ेगी।

आप 30 से 40 लाख की आमदनी आसानी से कर सकते हैं

बात करें Thai Apple (बेर) की खेती से कमाई के की जाए तो इसको लेकर सतबीर कहते हैं कि अगर आप 1 एकड़ में Thai Apple की खेती करते हैं तो इसमें लगभग एक से डेढ़ लाख रुपए की लागत आती है। इसमें करीब 170 पौधे आप लगा सकते हैं जो 1 साल तक बिल्कुल तैयार हो जाते हैं। ऐसे पहले साल में आपको सिर्फ़ 30 से 40 किलो फल ही एक पौधे से मिल पाएंगे।

लेकिन जैसे-जैसे पेड़ पुराने होते जाएंगे इसकी उत्पादन क्षमता भी बढ़ती है और आगे चलकर एक पेड़ से आप लगभग 1 क्विंटल तक फल प्राप्त कर सकते हैं। इस पेड़ से आप लगभग 20 सालों तक फल प्राप्त कर सकते हैं। सतबीर कहते हैं कि बाजारों में अगर 30 से 40 रूपये प्रति किलो की इसकी क़ीमत मिल जाए तो एक सीजन में आप 30 से 40 लाख की आमदनी आसानी से कर सकते हैं।

satbir-poonia-thai-apple-farming

इस तरह वहाँ के बाक़ी किसान भी अब सतवीर का मज़ाक उड़ाने के बजाय उनसे प्रेरणा ले रहे हैं। आप भी Thai Apple (बेर) की खेती आसानी से कर सकते हैं और अच्छी आमदनी कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here