Indian Railways: कड़ाके की सर्दी में भी क्यों देना पड़ता है ट्रेन में AC का चार्ज, वजह जानकर सिर पकड़ लेंगे आप

Facts About Indian Railways: भारत में लोकल से लेकर लंबी दूरी का सफर तय करने के लिए ट्रेन को सबसे बेहतरीन विकल्प माना जाता है, जिसके तहत रोजाना लाखों यात्री अपनी-अपनी मंजिल तक पहुँचते हैं। ऐसे में गर्मी के मौसम में अधिकतर लोग AC कोच में सफर करना पसंद करते हैं, जिसके लिए एडवांस बुकिंग करवानी पड़ती है।

इतना ही नहीं एसी कोच का किराया भी नॉर्मल कोच के मुकाबले ज्यादा होता है, जो सर्दी के मौसम (Winter Season) में भी कम नहीं होता है। ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि आखिर सर्दी के मौसम में जब AC का कोई इस्तेमाल नहीं होता है, तो यात्रियों को उसके लिए अतिरिक्त किराए का भुगतान क्यों करना पड़ता है।

क्यों कम नहीं होता है AC कोच का किराया?

सर्दी के मौसम (Winter Season) में भले ही यात्रियों को सफर के दौरान ठंड नहीं लगती है और न ही उन्हें एसी की जरूरत महसूस होती है, लेकिन इसके बावजूद भी यात्रियों को किराए में छूट नहीं दी जाती है। दरअसल इस कोच में तापमान को नियंत्रित करने के लिए पूरे साल भर एयर कंडीशनर का इस्तेमाल किया जाता है।

Read Also: यात्रीगण ध्यान दें! दिसंबर से मार्च के बीच रद्द रहेंगी ये ट्रेनें, रेलवे ने जारी की लिस्ट

ऐसे में जहाँ गर्मी के मौसम में एयर कंडीशनर कोच के तापमान को ठंडा रखता है, वहीं सर्दी के मौसम में एसी की वजह से कोच का तापमान गर्म रहता है। इसकी वजह से यात्रियों को एसी कोच में यात्रा करने में सुविधा होती है, जबकि उन्हें घबराहट या दम घुटने जैसी तकलीफों का सामना नहीं करना पड़ता है।

दरअसल AC Coach में कांच की बड़ी-बड़ी खिड़कियाँ मौजूद हैं, जिसकी वजह से बाहर की ताजी हवा कोच के अंदर दाखिल नहीं हो पाती है। ऐसे में कोच के अंदर ज्यादा यात्रियों की मौजूदगी की वजह से कार्बन डाइ ऑक्साइड की मात्रा ज्यादा हो जाती है और यात्रियों को घुटन महसूस होने लगती है, जिसकी वजह एसी हवा के प्रवाह को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

इस को कोच में सर्दी के मौसम में औसत तापमान 20 डिग्री सेल्सियस के आसपास होता है, जबकि गर्मी के सीजन में एसी कोच का तापमान 4 से 5 डिग्री सेल्सियस होता है। इससे यात्रियों को सफर करने में सुविधा होती है, जबकि उनका किराया भी वसूल हो जाता है। यही वजह है कि सर्दी और गर्मी के बदलते सीजन में रेलवे एसी कोच के किराए में कटौती नहीं करती है।

इतना ही नहीं सर्दी के मौसम में AC Coach में हीटर भी चलाया जाता है, जो यात्रियों को गर्माहट देने का काम करता है। यह हीटर सामान्य हीटर के मुकाबले काफी अलग होता है, जिसकी वजह से इसकी गर्माहट का आनंद उठाने के दौरान त्वचा रूखी नहीं होती है और यात्रियों को असुविधा का सामना नहीं करना पड़ता है।

Read Also: ट्रेन के पिछले डिब्बे पर क्यों लिखा होता है X या LV, बड़े से बड़े ज्ञानी को भी नहीं पता होगा इसका जवाब