65 साल के बेटे ने काटे 98 वर्षीय माँ के नाखून, इंटरनेट पर वायरल हुई खूबसूरत तस्वीर

आज के आधुनिक दौर में चीजें जितनी एडवांस हो गई हैं, रिश्ते उतने ही कमजोर होते जा रहे हैं। हम उस दौर में जी रहे हैं, जहाँ बच्चे अपने बुज़ुर्ग माता-पिता का ख़्याल रखने के बजाय उन्हें बोझ समझ कर वृद्धा आश्रम में छोड़ आते हैं। जबकि वह ये भूल जाते हैं कि उनकी परवरिश करने के लिए माता-पिता ने कितने कष्ट उठाए थे, लेकिन सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल हो रही एक तस्वीर को देखकर आपका भी दिल खुश हो जाएगा। ये तस्वीर उन सैकड़ों बच्चों के मुंह पर जोरदार तमाचा मारती है, जो अपने वृद्ध माता-पिता को बोझ समझते हैं।

बुजुर्ग माँ के नाखून काट रहा है बेटा

सोशल मीडिया पर जहाँ एक तरफ़ बुज़ुर्ग माता-पिता या सास-ससुर के साथ मार पीट की वीडियोज़ सामने आती हैं, वहीं इंटरनेट की इस दुनिया से मन को खुश करने वाली एक तस्वीर सामने आई है। इस तस्वीर में 65 साल का एक व्यक्ति अपनी 98 साल की वृद्ध माँ के पैरों के नाखून काटते हुए दिखाई दे रहा है।

सोशल मीडिया पर जैसे ही ये तस्वीर पोस्ट हुई, वैसे ही इसमें लाइक और कमेंट्स की बरसात होने लगी। हर कोई माँ और बेटे के बीच मौजूद इस खूबसूरत और प्यार भरे रिश्ते की तारीफ करने लगा, जो सालों बाद भी जस के तस बना हुआ है।

"ভালোবাসা" বরাবরই দেরি করে ঘুম থেকে ওঠার অভ্যেস আমার। সকালবেলা ঘুম ঘুম চোখে দেখলাম একজন 65 বছরের ভদ্রলোক একজন 98 বছরের…

Posted by Abhraneel Malakar on Thursday, 1 April 2021

लड़के ने शेयर की अपने पिता और दादी की तस्वीर

आपको बता दें कि इस खूबसूरत तस्वीर को शेयर करने वाला लड़का पश्चिम बंगाल का रहने वाला है, जिसका नाम अभ्रनील मालाकर है। उनसे सोशल मीडिया पर दादी के पैरों के नाखून काट रहे अपने पिता की तस्वीर पोस्ट की और साथ में एक मैसेज भी लिखा। इस पोस्ट के कैप्शन में अभ्रनील ने लिखा-

प्यार, मेरी देर से उठने की आदत है, लेकिन आज सुबह मेरी नींद भरी आंखों ने एक 65 साल के व्यक्ति को 98 वर्षीय महिला के पैर के नाखून काटते हुए देखा। वह 65 साल के शख़्स मेरे पिता हैं और ये मेरी बुज़ुर्ग दादी हैं। मैं इस तस्वीर को शेयर किए बिना रह नहीं पाया”।

गौरतलब है कि अभ्रनील द्वारा शेयर की गई इस खूबसूरत तस्वीर को अब तक 1, 500 से ज़्यादा लोग शेयर कर चुके हैं, जबकि हजारों लोगों ने इसे लाइक और कमेंट किया है।

Facebook/ Abhraneel

लेकिन यहाँ हमें ख़ुद से एक सवाल पूछने की ज़रूरत है कि हमने आखिरी बार अपने माता-पिता के साथ बैठकर अच्छा वक़्त कब गुज़ारा था। या फिर कब आपने लास्ट बार अपने माता-पिता की छोटी-छोटी ज़रूरतों का ध्यान करते हुए उन्हें पूरा करने की कोशिश की थी।

कहने का मतलब सिर्फ़ इतना ही कि सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरों पर प्यार दिखाने और उन्हें लाइक करने से बेहतर है कि आप अपने माता-पिता के साथ थोड़ा वक़्त गुजारें। उनका ध्यान रखें और उन्हें इस एडवांस ज़माने में अकेलेपन का एहसास न होने दें, क्योंकि इस दुनिया में माता-पिता से ज़्यादा प्यार आपको कोई नहीं कर सकता।