Neelam Mohan: वो साहसी महिला जिसने महज़ 3000 रुपये से Startup Business शुरू किया, मुसीबतों का सामना कर खड़ी कि 130 करोड़ की कंपनी

Inspiring Success Story of Neelam Mohan in Hindi: “कौन कहता है कि आसमान में छेद नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों।” किसी अनचाही मुसीबत के आने बाद अगर हम हार मानकर बैठ जाएं, तो हम हमारे सपनों को कभी पूरा नहीं कर सकते। लेकिन यदि उन मुसीबतों का डट कर सामना करें, तो आप सफ़लता चूम सकते हैं। ये बात साबित कर के दिखाई है नीलम मोहन (Nilam Mohan) ने। 

आइए जानते है Neelam Mohan के बारे में, जिन्होंने महज़ 3,000 रुपये की सैलरी से शुरू किया हुआ सफ़र आज 130 करोड़ रुपये की कंपनी तक जा पहुंचा है। 

पढ़ाई के दौरान ही करा दी गई शादी

The Weekend Leader के रिपोर्ट की माने तो, बनारस हिन्‍दू यूनिवर्सिटी से B. A. की पढ़ाई करते हुए ही नीलम मोहन की शादी एक IIT-MBA Professional अमित मोहन के साथ हो गई। महज़ 21 साल की उम्र में नीलम को शादी के बाद उनके पति के साथ देश की राजधानी दिल्‍ली आना पड़ा। 

नीलम के अंदर हमेशा से ही कुछ अलग कर दिखाने की ललक थी। और अपनी इसी इच्छा को पूरा करने के लिए नीलम ने 22 साल की उम्र में ‘फ़ैशन’ नाम की कंपनी शुरू की, परंतु 1978 में प्रेग्‍नेंसी के दौरान उन्हें छुट्टी लेनी पड़ी। 

इसे भी पढ़ें: कीमत राय वो स्कूल टीचर जिसने मंदी से जूझ रहे कंपनी को ख़रीद कर बनाया अरबों का ब्रांड, नाम रखा ‘Havells

3 हज़ार की सैलरी से करियर की शुरुआत 

इसके बाद उन्होंने दिल्‍ली में रहते हुए Freelancer के तौर पर पुरुषों के कपड़े डिज़ाइन करने के काम की शुरुआत की और UP Export Corporation के साथ काम करने लगीं। तब उन्हें केवल 3,000 रुपये महीना सैलरी मिल रही थीं। इस जॉब के दौरान ही निलम ने ख़ुद का StartUp Business करने के बारे में सोचा और उनके इस सोच हक़ीक़त में लाने के लिए उन्होंने अपने दोस्‍त हरमिंदर सालधी (Harminder Saldhi) के साथ काम शुरू किया। 

नीलम ने दोस्त हरमिंदर और सुशील कुमार के साथ 1983 में Opera House Private Limited नाम से StartUp Company की शुरुआत की। नीलम और उनके दोस्त पार्टनर ने दिन-रात काम किया और पहले ही साल कंपनी का टर्न ओवर 15 लाख रुपये से अधिक पहुंच गया। इसके बाद नीलम और उनकी कंपनी तरक्की के नए-नए पर्चम हांसिल करते रही।

इसे भी पढ़ें: नीता अंबानी के स्कूल में पढ़ते हैं इन बॉलीवुड स्टार के बच्चे, जानिए कितनी होती है फीस

समस्याओं के बादल से घिरा जीवन 

लेकिन जैसे उन्हें सफलताएं मिल रही थी, ठीक उसी समय उनके सामने कई तरह की मुसीबतें भी आ रहीं थी। जैसे कि निज़ी कारणों की वजह से 1991 में नीलम अपने पति से अलग हो गई। इसके बाद, पार्टनर्स से मतभेद होने लगें जिस वजह से नीलम को कंपनी में अपनी हिस्सेदारी 3 करोड़ रूपये में बेचनी पड़ी। 

Neelam Mohan ने फिर से की नई शुरुआत

इतनी मुसीबतें आने बावज़ूद नीलम ने हिम्मत नहीं हारी और 1993 में उन्‍होंने 4 दर्जियों के साथ अपनी ख़ुद की Magnolia Blossom नाम की कंपनी शुरू की। नीलम ने अपने नई कंपनी के लिए 1 करोड़ 40 लाख रुपये में एक घर ख़रीदा और उसी घर कारखाने में तब्दील कर दियां, जहां उनके कर्मचारी काम करते और रात में वहीं सोते थे।

कंपनी दिवालिया होने की कगार पर

साल 2002 में नीलम की कंपनी घाटे में चलने लगी जिस वजह से कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गई। ऐसे परिस्थिति में उनका एक दोस्त उनकी कंपनी के बचाव के लिए सामने आया और उसने कंपनी के काम को OutSource करना शुरू किया। इस बीच नीलम का बेटा सिद्धार्थ अमेरिका से अपनी पढ़ाई पूरी कर भारत लौटा था। सिद्धार्थ ने अपनी मां को दिन-रात काम करते देख कर, वो भी उनकी मदद के लिए सामने आया।  

सफ़लता चूमती कंपनी 

अपने बुलंद इरादों और धैर्य के साथ मेहनत करने का परिणाम ये निकला कि नीलम की कंपनी 30 करोड़ रुपये से सीधा 130 करोड़ रुपये के मूल्य तक पहुंच गई। वर्तमान में सिद्धार्थ और उनकी पत्नी पल्लवी दोनों मैगनोलिया मार्टीनिक क्लोदिंग प्राइवेट लिमिटेड में डायरेक्टर हैं। वहीं, उनका ऑफ़िस नोएडा में है। इसके अलावा, एक फैक्ट्री भी है। नीलम 2009 से पंचवटी नाम का एक घर सीनियर सिटीजन के लिए विकसित कर रही है, जहां बुजुर्गों के लिए अत्याधुनिक सुविधा उपलब्ध हो सकें।  

इसे भी पढ़ें: दुबई के ‘पाम जुमेराह आइलैंड’ पर बसा सबसे महंगा घर Mukesh Ambani ने ख़रीदा, क़ीमत जानकार हैरान रह जाओगे