सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है 1985 का रेस्टोरेंट बिल, पूरी थाली के लिए चुकाए सिर्फ 26 रुपए

आज के महंगाई भरे दौर में हफ्ते भर की सब्जी खरीदने के लिए भी 500 रुपए खर्च करने पड़ते हैं, जिसकी वजह से आम लोगों का बाहर रेस्टोरेंट या होटल में खाना-खाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। लेकिन आज से कुछ साल पहले देश में महंगाई इतनी ज्यादा नहीं थी, जबकि खाने का बिल भी 40 रुपए के आसपास आता था।

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक रेस्टोरेंट का बिल वायरल हो रहा है, जो आज से लगभग 37 साल पुराना है। इस बिल में खाने का दाम लिखा हुआ है, जिसकी तुलना आज के रेस्टोरेंट बिल से की जा रही है। साल 1985 के इस बिल में शाही पनीर की कीमत सिर्फ 8 रुपए है, जबकि आज शाही पनीर 350 रुपए की कीमत पर मिलता है।

26.30 रुपए में भरपेट खाना

इसी तरह साल 1985 में दाल मखनी की कीमत 5 रुपए थी, जबकि आज रेस्टोरेंट में दाल मखनी 399 रुपए में मिलती है। इस बिल में रायते की कीमत 5 रुपए लिखी गई है, जबकि टोटल बिल के रूप में ग्राहक ने 26 रुपए का भुगतान किया है। वहीं आज के दौर में एक थाली की कीमत 1, 200 रुपए के आसपास होती है, जिससे बढ़ती महंगाई का अंदाजा आसानी से लगाया जा रहा है।

साल 1985 से 2022 तक खाने पीने की चीजों के दाम इतने ज्यादा बढ़ गए हैं कि आम लोगों बाहर खाना खाने से परहेज करते हैं, जबकि बिल की तुलना करने से यह भी पता चलता है कि साल 1985 से 2022 के बीच महंगाई 48 प्रतिशत तक बढ़ गई है। इसलिए शायद बड़े बुजुर्ग पुराने जमाने को ही बेहतर बताते हैं, जब कम पैसों में भी आसानी से गुजारा हो जाता था।

इसे भी पढ़ें – सिर्फ 15 साल पहले की तो बात है, तब ये 20 चीजें हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हुआ करती थी, लेकिन अब नहीं