Homeमिलिए चाय वाली चाची से, सिर्फ चाय के सहारे 33 वर्षों से...
Array

मिलिए चाय वाली चाची से, सिर्फ चाय के सहारे 33 वर्षों से जिंदा है ये महिला, शारीरिक रूप से बिल्कुल फिट हैं

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

चाय का नाम सुनते ही कोई मना नहीं करता है, क्योंकि यह ज्यादातर लोगों का फेवरेट होता है। इसे पीते ही इंसान बिल्कुल फ्रेश फील करता है और उसकी अच्छी खासी नींद भी भाग जाती है। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो चाय दिन भर में एक से दो कप पीते हैं, तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो चाय की बहुत ज़्यादा एडिक्टेड होते हैं। स्वास्थ्य के नजरिए से अगर देखा जाए तो बहुत ज़्यादा चाय पीना भी हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि कोई व्यक्ति ऐसा भी हो सकता है जो सिर्फ़ चाय पर ज़िंदा है? अगर आपने ऐसा नहीं सोचा तो मैं आपको बता दूं कि हाँ यह बिल्कुल सच बात है। एक ऐसी महिला है जो 1 या 2 सालों से नहीं, बल्कि पिछले 33 सालों से सिर्फ़ और सिर्फ़ चाय पी कर ज़िंदा है।

33 सालों से बिना कुछ खाए पिए सिर्फ़ चाय पर ज़िंदा है (Chai Wali Chachi)

आपकी जानकारी के लिए बता दें तो यह महिला छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के बैकुंठपुर गाँव की रहने वाली है। इनका नाम पल्ली देवी है। जो पिछले 33 सालों से बिना कुछ खाए पिए सिर्फ़ चाय पर ज़िंदा है और उससे भी ख़ास बात यह है कि उसका स्वास्थ्य भी पूरी तरह से फिट है उसे किसी तरह की कोई बीमारी नहीं है।

लोग उन्हें “चाय वाली चाची” के नाम से बुलाते हैं (Chai Wali Chachi)

पल्ली देवी के परिवार के अनुसार जब वह 11 साल की थी उसी समय उन्होंने अन्न और जल को पूरी तरह से त्याग दिया। उनके चाय पीने की आदत को लेकर अब उनके गाँव के रहने वाले सारे लोग उन्हें “चाय वाली चाची(Chai Wali Chachi) के नाम से बुलाते हैं। पल्ली देवी के पिता रतीराम ने बताया कि जब वह कक्षा 6 में पढ़ती थी उसी दौरान उन्होंने भोजन और पानी छोड़ दिया था। तो वहीं दूसरी ओर उनके भाई बिहारी लाल ने बताया कि जबसे उन्होंने होश संभाला है उन्होंने अपनी बहन पल्ली देवी को ऐसे ही देखा है।

साल 1985 में पल्ली देवी की शादी कर दी गई, लेकिन कुछ दिनों के बाद ही उनके पति ने उन्हें वापस मायके लाकर छोड़ दिया। हो सकता है इसके पीछे का कारण उनके चाय पीने की आदत ही हो, लेकिन कुछ कहा नहीं जा सकता। पल्ली देवी के भाई बिहारी लाल ने आगे बताया कि एक बार की बात है जब दूध वाले ने दूध देरी से घर पहुँचाया और पैसों के लेनदेन में भी थोड़ी बात आप आती हो गई इस बात पर दूध वाले ने भी काफ़ी कुछ पल्ली देवी को सुना दिया। उस घटना के बाद से पाली देवी ने दूध वाली चाय पीनी भी छोड़ दी और उसी समय से उन्होंने लाल चाय पीना शुरु कर दिया।

फिजिकली पूरी तरह से फिट है

पल्ली देवी के इस आदत को लेकर कई बार उन्हें डॉक्टर से भी दिखाया गया है, लेकिन फिजिकली वह पूरी तरह से फिट है। डॉक्टर का कहना है कि उन्हें कोई शारीरिक या मानसिक बीमारी नहीं है। जबकि दूसरी ओर डॉक्टर्स का यह भी कहना है कि अगर वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो 33 सालों तक लगातार चाय पर ज़िंदा रहना भी किसी व्यक्ति के लिए संभव नहीं है। लेकिन फिर भी ऐसा है तो ज़रूर इसके पीछे कोई ना कोई वज़ह होगी या तो उनमें ज़रूर कुछ अलग तरह की शारीरिक संरचना होगी।

वाकई यह सोचने वाली बात है कि कैसे कोई महिला इतने सालों से चाय पी कर ज़िंदा है।

यह भी पढ़ें
News Desk
News Desk
तमाम नकारात्मकताओं से दूर, हम भारत की सकारात्मक तस्वीर दिखाते हैं।

Most Popular