Homeविदेश में लाखों की नौकरी छोड़ पूजा यादव ने ठानी देशसेवा, आज...
Array

विदेश में लाखों की नौकरी छोड़ पूजा यादव ने ठानी देशसेवा, आज संभाल रही हैं IPS अधिकारी का पद

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

IPS Puja Yadav – अगर आप उन युवाओं में से हैं, जो उच्च शिक्षा हासिल करके विदेश में नौकरी करने के सपने देखते हैं तो आज की स्टोरी आपकी आंखें खोलने के लिए काफ़ी है। पूजा यादव नामक लड़की ने विदेश में पढ़ाई करने के बाद भी अपने देश भारत में नौकरी करने का फ़ैसला किया, जिसकी बदौलत वह आईपीएस ऑफिस का पद संभाल रही हैं।

आखिर कौन है पूजा यादव, जिन्होंने न सिर्फ़ हिंदुस्तान की बेटी होने का फ़र्ज़ निभाया है, बल्कि लाखों युवाओं को प्रेरणा देने का काम कर रही हैं। पूजा यादव की कहानी जानने के बाद यकीनन आपको भी इस बात का एहसास हो जाएगा कि सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा।

IPS Puja Yadav का परिचय

हरियाणा की रहने वाले पूजा यादव (IPS Puja Yadav) का जन्म 20 सितंबर 1988 को हुआ था, जिन्हें बचपन से ही पढ़ाई लिखाई का शौक था। उन्होंने स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी करना शुरू कर दिया, क्योंकि उनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। ऐसे में पूजा को अपनी पढ़ाई के लिए ख़ुद ही पैसे इकट्ठा करने थे।

पूजा ने रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करने के साथ-साथ घर पर बच्चों को ट्यूशन भी दिया, ताकि अपनी एमटेक की पढ़ाई के लिए फीस इकट्ठा कर सके। इस दौरान बायो टेक्नोलॉजी में काम करते हुए पूजा ने कनाडा जाने का फ़ैसला किया, जहाँ उन्होंने कुछ साल नौकरी की। अपने फील्ड में अच्छी नॉलेज होने के बाद पूजा जर्मनी शिफ्ट हो गए और वहाँ नौकरी करने लगी।

भारत क्यों लौटीं IPS Puja Yadav

जर्मनी में पूजा यादव की लाइफ बहुत ही बेहतरीन चल रही थी, उनके पास अच्छी नौकरी थी और विदेश में रहने का मौका भी था। लेकिन इस दौरान पूजा को एहसास हुआ कि वह अपने देश को छोड़कर जर्मनी के विकास में अहम भूमिका निभा रही है, जिससे भारत पिछड़ रहा है और दूसरे देश आगे बढ़ रहे हैं।

ऐसे में पूजा ने वापस भारत आने का फ़ैसला किया और जर्मनी की नौकरी छोड़कर अपने देश में यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। पूजा यादव देश के लिए कुछ करना चाहती थी, ताकि भारत का भविष्य उज्ज्वल हो सके।

असफलता के आगे नहीं मानी हार

पूजा (IPS Puja Yadav) ने UPSC की तैयारी करना शुरू तो कर दिया था, लेकिन उनके लिए यह सफ़र बिल्कुल भी आसान नहीं था। दिन रात पढ़ाई करने के बावजूद भी पूजा को पहली बार में यूपीएससी परीक्षा क्लियर करने में सफलता नहीं मिली, लेकिन इससे उनका मनोबल बिल्कुल भी नहीं टूटा।

पूजा यादव ने दोबारा UPSC की तैयारी की और साल 2018 में दूसरे प्रयास में परीक्षा क्लियर करने में सफलता हासिल कर रही, जिसके बाद उन्होंने गोधरा की एसपी डॉ. लीना पाटिल के अंडर अपनी ट्रेनिंग पूरी की थी। ट्रेनिंग ख़त्म होने के बाद सितंबर 2020 में पूजा यादव की पहली पोस्टिंग गुजरात के बनासकांठा जिले के थराद में एएसपी के रूप में की गई थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि पूजा यादव थराद में नियुक्त होने वाली पहली महिला IPS Officer हैं।

पूरी लगन के साथ कर रही हैं काम

पूजा यादव की पोस्टिंग गुजरात के थराद में की गई है, यह पूरा इलाक़ा एक तरफ़ से पाकिस्तान और दूसरी तरफ़ से राजस्थान की सीमा से घिरा हुआ है। ऐसे में थराद गैम्बिलिंग का हब बना हुआ है, जिससे निपटना पूजा के लिए सबसे बड़ी चुनौती साबित हुआ।

पूजा यादव ने अपनी समझ और चुस्ती फुर्ती से थराद में 1.5 करोड़ रुपए से ज़्यादा की शरा ब जब्त की है, जिसकी वज़ह से इस इलाके में गैम्बलिंग करना काफ़ी मुश्किल हो गया है। पूजा यादव की इसी मुस्तैदी की वज़ह से थराद धीरे-धीरे अप राधा मुक्त हो रहा है, जिसकी वज़ह से वहाँ शिक्षा का स्तर बढ़ रहा है और गैर कानूनी कामों में रोक लग रही है। एक महिला आईपीएएस ऑफिसर की अपने इलाके पर इतनी पकड़ और बिना डरे काम करने की गति सहराहनीय है।

खुशहाल जीवन जी रही हैं पूजा

आईपीएस ऑफिसर का पद संभालने के बाद पूजा यादव नें 18 फरवरी 2021 को आईएएस विकल्प भारद्वाज के साथ शादी की थी, जो साल 2016 के केरल कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। पूजा और विकल्प की पहली मुलाकात मसूरी में स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में हुई थी, जिसके बाद दोनों के बीच दोस्ती हुई और ये दोस्ती प्यार में बदल गई।

पूजा से शादी करने के बाद विकल्प भारद्वाज ने अपना कैडर बदलकर गुजरात शिफ्ट हो गए, क्योंकि पूजा की पहली पोस्टिंग गुजरात में हुई थी। पूजा यादव दिखने में किसी एक्ट्रेस से कम नहीं लगती हैं, जो वर्दी में देश की शान बढ़ा रही हैं।

सोशल मीडिया पर रहती हैं काफ़ी एक्टिव

इतना ही नहीं पूजा (IPS Puja Yadav) सोशल मीडिया पर भी काफ़ी एक्टिव रहती हैं और इलाके में होने वाली हर छोटी बड़ी गतिविधि की जानकारी शेयर करती हैं। फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम पर भी पूजा के फ्लोवर्स की संख्या काफ़ी ज़्यादा है, जिससे यह साबित होता है कि भारत की लड़की सिर्फ़ खूबसूरती के मामले में ही नहीं बल्कि उच्च पद संभालने के भी काबिल है।

भले ही बहुत से युवा विदेश जाकर नौकरी का सपना देखते हों, क्योंकि ऐसा करने से कम समय में ज़्यादा कमाई हो जाती है। लेकिन अपने देश के प्रति भी युवाओं की कोई जिम्मेदारी है, जिसे भारत में रहकर ही पूरा किया जा सकता है। इसलिए विदेशों की तरक्क़ी में योगदान देने से बेहतर है कि आप अपने देश को आगे बढ़ाने में पूजा यादव की तरह अहम भूमिका निभाए।

यह भी पढ़ें
Shivani Bhandari
Shivani Bhandari
शिवानी भंडारी एक कंटेंट राइटर है, जो मीडिया और कहानी से जुड़ा लेखन करती हैं। शिवानी ने पत्रकारिता में M.A की डिग्री ली है और फिलहाल AWESOME GYAN के लिए फ्रीलांसर कार्य कर रही हैं।

Most Popular