इस महिला ने अपने खेत को बनाया आईलैंड और बन गई लखपति, गूगल ने भी दिया सम्मान पत्र

कहते हैं कि जब मन में कुछ कर दिखाने का जज़्बा हो तो राहें अपने आप मिल जाती है और हर मुश्किल आसान हो जाती है। आज हम आपको ऐसी ही दृढ निश्चयी और बुद्धिशाली महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, जो केवल दसवीं ताकि पढ़ी लिखी हैं लेकिन इन्होंने जो कर दिखाया है वह पढ़े लिखे लोगों के लिए भी आसान काम नहीं है। इस महिला ने अपने खेत को ही आईलैंड बना दिया।

इन महिला का नाम किरण कुमारी राजपूत है और ये यूपी के कन्नौज के तिर्वा तहसील के बुथइयाँ गाँव में रहती हैं। दरअसल किरण कुमारी के पास उमर्दा ब्लॉक के गुन्दहा ग्राम में 23 बीघा भूमि है। इनकी समस्या यह थी कि इनके खेत में पानी भरा रहता था अतः वे अपने खेत में कृषि कार्य ठीक से नहीं कर पाती थी। इस समस्या से निपटने के लिए उन्होंने अपने खेत के पानी भरे हुए हिस्से को तालाब में परिवर्तित करने का निश्चय किया।

woman-made-her-farm-an-island-and-earn-money

किरण कुमारी ने खेत में जलभराव की समस्या का कुछ इस तरह से किया सामना

इन्हें वर्ष 2016 में जल प्लावन योजना के तहत सरकार से 2 लाख रुपये मिले। फिर इन्होंने अपनी जमापूंजी भी इसी कार्य में लगा दी और कुछ पैसे उधार भी लिए। फिर इन्होंने इस जगह मछली पालन का कार्य शुरू कर दिया। इनकी 23 बीघा भूमि में तालाब निर्माण का कार्य प्रारंभ करने में 11 लाख रुपये ख़र्च हुए।

खेत से बने तालाब के बीच बनाया आइलैंड, बन गया लोगों के आकर्षण का केंद्र

अपने इस कार्य से किरण कुमारी को प्रारंभ में कुछ कमाई हुई। बाद में उन्होंने खेत में बने इस तालाब के मध्य एक बीघा ज़मीन का आइलैंड बना दिया। जिसमें उन्होंने आम, अमरूद, केला, करौंदा, पपीता, सहजन के पेड़ और फूलों के पौधों का खूबसूरत बगीचा बनाया। यह आईलैंड सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया और लोग वहाँ पर घूमने के लिए आने लगे। हालांकि उनकी अस्वस्थता के चलते अब इस आईलैंड की देखभाल किरण कुमारी का पुत्र शैलेंद्र करता है।

अब उनकी लाखों की कमाई होती है इस तालाब से

उनके इस तालाब में कत्तल, नैन, चाइना फिश, ग्रास कटर और सिल्वर आदि प्रजातियों की मछलियाँ हैं। मछली पालकर तथा अपने बगीचे के फल बेचकर वे प्रतिवर्ष लगभग 20 से 25 लाख तक की कमाई कर लेते हैं।

woman-made-her-farm-an-island-and-earn-money

गूगल ने भी सम्मान पत्र देकर किया प्रोत्साहित

किरण कुमारी ने अपनी मेहनत से जो सुंदर आइलैंड बनाया, उसे देखने के लिए सिर्फ़ आसपास के ही नहीं बल्कि दूर स्थानों से भी लोग वहाँ आते हैं और उस स्थान को पसंद करते हैं। इतना ही नहीं उनके इस कार्य कि गूगल ने भी बहुत सराहना की और उनके इस कार्य को प्रोत्साहन देते हुए उन्हें 1 वर्ष पूर्व एक सम्मान पत्र भी प्रदान किया, साथ ही उनकी तस्वीर भी गूगल पर अपलोड हुई।

किरण कुमारी का कार्य और उनके प्रयास काफ़ी सराहनीय हैं, जो की सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं।