युवती को मिला नोटों से भरा किसान का बैग, पुलिस के सहयोग से किसान को लौटाई सारे पैसे

    ईमानदारी एक ऐसी चीज़ है जिसके लिए लोग ज़िन्दगी भर आपका सम्मान करेंगे। वरना बेईमानी से अगर आपको कुछ मिल भी जाए तो भी आप सुकून से नहीं रह सकते। इस युवती ने भी इमानदारी की एक मिसाल क़ायम कर दी। आपको बता दें तो एक युवती को सफ़र के दौरान बस में नोटों से भरा हुआ बैग मिला। वह मध्य प्रदेश के बैतूल में बस से सफ़र कर रही थी। लेकिन उसने ईमानदारी दिखाते हुए इस बैग को पुलिस के हाथों में सौंप दिया, जिसके बाद पुलिस ने जांच के बाद इस बैग को उसके मालिक (जो कि एक किसान था) के हवाले कर दिया।

    यह बैग एक किसान का था, जो बिरुल बाज़ार के रहने वाले हैं। उनका नाम राजा रमेश साहू है। वह अपनी गोभी की फ़सल बेचकर भोपाल लौट रहे थे। इसी दौरान गोभी बेचने से जो पैसे मिले थे, उन्होंने उस पैसे को एक बैग में रखा था। लेकिन दुर्भाग्यवश उनका यह बैग बस में ही छूट गया।

    किसान के उतरने के बाद बस में रीता चढ़ी और उस किसान के सीट पर ही जाकर बैठ गई। तब उन्हें वहाँ एक बैग मिला जब उन्होंने बैग खोला तो देखा उसमें कुछ हज़ार रुपए पड़े हैं। तब उन्होंने इस बैग को साईंखेड़ा थाना पुलिस को सौंप दिया जिसके बाद पुलिस ने किसान का पता लगाकर उसे यह पैसे लौटा दिए।

    साईंखेड़ा पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी ने मिडिया से बात करते हुए कहा कि रीता ने पहली बार ईमानदारी की मिसाल नहीं दी है, इससे पहले भी उसके पिता के खाते में ग़लती से 42 हज़ार रुपये आ गए थे। जिसके बाद रीता ने उस व्यक्ति को उसके सारे पैसे लौटा दिया जिसने गलती से इनके पिता के अकाउंट में पैसे भेजे थे।

    अब रीता को उनके इमानदारी के लिए उनके परिवार को सम्मानित करने की योजना बनाई जा रही है। उम्मीद है कि बाक़ी लोग भी इनकी ईमानदारी को देखकर प्रेरणा लेंगे और अपने जीवन में ईमानदारी बरतेंगे।