पृथ्वी पर एक ऐसा भी स्थान है जहाँ गाड़ियों के इंजन को केवल गर्मियों में ही बंद किया जाता है- जानिए वजह

पूरे विश्व में एक शहर ऐसा है जिसे पृथ्वी पर सबसे अधिक ठंडा शहर मानते हैं। यह शहर रूस में स्थित है, इस जगह पर गाड़ियों के इंजन सिर्फ़ गर्मी के मौसम में ही बंद किए जाते हैं। इंसान के पास ऐसी अद्भुत अनुकूलन क्षमता होती है कि वह हर प्रकार के वातावरण के अनुसार स्वयं को उसके अनुकूल बना लेता है।

विश्व में कई स्थान ऐसे भी हैं जहाँ पर मौसम बदलता नहीं है, या फिर ना के बराबर बदलता है। आज हम जैसे ठंडे शहर की बात करने जा रहे हैं वह छोटा-सा शहर उत्तरपूर्वी रूस में है, इस शहर का नाम ओम्याकॉन (Oymyakon) है।

सर्दियों में रहता है -50℃ तापमान

Oymyakon हमारी पृथ्वी पर सबसे ठंडे लेकिन फिर भी बसे हुए शहर के तौर पर जाना जाता है। आपको बता दें कि सर्दियों के मौसम में यहाँ पर इतनी अधिक ठंड पड़ती है कि तापमान शून्य से 58 ° F (अर्थात माइनस 50 डिग्री सेल्सियस) तक रहता है।

यह प्रदेश रूस का एक छोटा-सा गाँव है, जिसकी आबादी करीब 500 जितनी ही है। Oymyakon तथा Verkhoyansk विश्व में यह दो स्थान ऐसे हैं जहाँ पर -50.0 डिग्री सेल्सियस से भी कम तापमान दर्ज किया गया है, लेकिन फिर भी ये दो स्थान स्थायी तौर पर बसे हुए हैं।

बच्चे इसी तापमान में जाते हैं स्कूल, सिखाया जाता है ठंड में रहना

ओम्याकॉन में अक्टूबर तथा मार्च के महीनों में कभी भी अधिक ठंड नहीं रही है। यहाँ पर सर्दियाँ लंबी व अत्यधिक ठंडी होती हैं। हालांकि गर्मियों के मौसम में यहाँ हल्का गर्म वातावरण रहता है। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक ऐसे स्थान पर सबसे गर्म महीना जुलाई 2010 रहा है। वह इसलिए है क्योंकि इस महीने में इस स्थान का सबसे ज़्यादा तापमान +18.7 डिग्री सेल्सियस तक रहा है।

इस प्रदेश में कठोर जल वायु होने के बाद भी यहाँ के निवासी घाटी में रहा करते हैं। बच्चे इन कड़कती सर्दियों को झेल पाए इसलिए यहाँ पर बच्चों को तापमान के अनुसार किस प्रकार से रहना है, यह सिखाया जाता है। इतना ही नहीं आपको सुनकर आश्चर्य होगा कि यहाँ पर बच्चे -50 डिग्री सेल्सियस के तापमान में भी स्कूल जाते हैं।

सर्दियों में यहाँ कोई फ़सल नहीं उगाई जाती

Oymyakon में अब तक का सर्वाधिक निम्न तापमान का रिकॉर्ड सन 1924 में एक माइनस 71.2 सेल्सियस (माइनस 96.16 फ़ारेनहाइट) रहा था। इसके अलावा यहाँ पर 28 जुलाई 2010 में, Oymyakon में सर्वाधिक उच्च तापमान 34.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सर्दियों का मौसम जब आता है तो यहाँ पर कड़कती ठंड पड़ती है इसलिए इस प्रदेश में कोई भी फ़सल नहीं उगाते हैं। यहाँ के लोग अधिकतर अलग-अलग प्रकार के मांस खाकर जीवन गुजारते हैं।

यहाँ के निवासी अपनी गाड़ियों के इंजन को रोजाना 24 घंटे चलाते हैं, अर्थात यहाँ पर गाड़ियों को कभी बंद नहीं किया जाता है। मां”स और इससे बने उत्पादों का सेवन करके यहाँ के लोग ज़िं”दा रहते हैं। Oymyakon तथा Verkhoyansk इन दोनों प्रदेशों को ठंड का उत्तरी ध्रुव मानते हैं। यहाँ की ज़मीन भी स्थायी रूप से जमी हुई रहती है।