नोटबंदी से मिला बिजनेस का आइडिया, खड़ी कर दी 700 करोड़ रुपए की कंपनी

PhonePe App Success Story: आज के आधुनिक युग में हर काम टेक्नोलॉजी की मदद से पूरा किया जाता है, जिसकी वजह से लेन देन का काम भी डिजिटली पूरा किया जाने लगा है। ऐसे में हर कोई अपने स्मार्ट फोन में मोबाइल वॉलेट और फोन पर जैसे एप्स को रखता है, जिनकी मदद से कैश लेश भुगतान करने में आसानी होती है।

ऐसे में आज हम आपको फोन पर नामक डिजिटल पेमेंट एप के संस्थापक समीर निगम (Samir Nigam) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें नोटबंदी से कैश लेश पेमेंट करने का आइडिया मिला था। उन्होंने अपने इस आइडिया पर काम किया और देखते ही देखते 700 करोड़ रुपए की कंपनी खड़ी कर दी, तो आइए जानते हैं समीर निगम के करियर की सफलता की कहानी। PhonePe – Startup Story

Sameer Nigam, PhonePe CEO

Sameer NigamPhonePe के Founder और CEO हैं 

समीर निगम (Samir Nigam) ने साल 2015 में PhonePe App नामक एप की शुरुआत की थी, जिसकी मदद से कैश लेस भुगतान किया जा सकता है। समीर निगम ने Flipkart जैसी ई-कॉमर्स कंपनी में वरिष्ठ इंजीनियरिंग उपाध्यक्ष के रूप में काम किया था, जिसके बाद साल 2009 में उन्होंने माइम 360 नामक अपनी पहली कंपनी की शुरुआत की थी। इसे भी पढ़ें – दो भाईयों ने मिलकर शुरू की थी एक छोटी-सी कंपनी, आज बन चुके हैं 1,200 मिलियन डॉलर के मालिक

इस वेबसाइट की मदद से ऑनलाइन सामान की खरीददारी की जा सकती थी, जिसे बाद में Flipkart द्वारा खरीद लिया गया था। ऐसे में समीर निगम ने साल 2015 में PhonePe App की नींव रखी थी, जिसमें उनके दोस्त राहुल चारी (Rahul Chari) और बुर्जिन इंजीनियर (Burzin Engineer) ने मदद की थी। इसके बाद साल 2016 में PhonePe कंपनी की शुरुआत के लिए ऑनलाइन आवेदन किया गया था, जो वर्तमान में 11 से अधिक भाषाओं में उपलब्ध है।

PhonePe के बाज़ार में आते ही साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का ऐलान कर दिया था, जिसकी वजह से कैश लेस भुगतान के लिए लोगों ने फोन पर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था। उस वक्त आम लोगों के पास UPI जैसी सुविधा न के बराबर थी, जिसकी वजह से उन्होंने एटीएम और बैंक पर निर्भर रहना पड़ता था।

ऐसे में नोटबंदी की वजह से समीर निगम द्वारा बनाए गए PhonePe का इस्तेमाल तेजी से बढ़ने लगा, जबकि लोगों ने इस एप को अपने मोबाइल फोन में इंस्टॉल करना शुरू कर दिया। जिसकी वजह से वर्तमान में हर किसी के मोबाइल फोन में इस एप को देखा जा सकता है, जिसकी वजह से फोन पर 700 करोड़ रुपए की कंपनी तब्दील हो चुकी है और समीर निगम की नेट वर्थ 17.7 करोड़ रुपए से ज्यादा है। इसे भी पढ़ें – महज 30 हजार रुपए से शुरू किया था बिजनेस, आज बन चुकी है 200 करोड़ की कंपनी