आप भी घर के गमले में उगा सकते हैं टमाटर के पौधे और फ्रेश टमाटर का मज़ा ले सकते हैं, जानें आसान तरीका

वैसे हर किसी का यह शौक होता है कि वह ख़ुद का किचन गार्डन बनाएँ और ताजी और हरी सब्जियों का सेवन करें। लेकिन जानकारी के अभाव में वह ऐसा कर नहीं पाते हैं, क्योंकि उनका ऐसा मानना होता है कि गार्डनिंग के लिए ज़्यादा जगह की आवश्यकता होती है। लेकिन उन्हें यह नहीं पता होता है कि वह गमले में भी कई तरह की सब्जियों को उगा सकते हैं। आइए आज हम आपको गमले में टमाटर उगाने के बारे में बताते हैं। जिसे लगाकर आप फ्रेश टमाटर के स्वाद का मज़ा ले सकते हैं।

घर में टमाटर लगाने के तरीके को जानें

गमले में टमाटर उगाने के लिए सबसे पहले आपको एक बड़े आकार का गमला लेना है। चूंकि टमाटर के पौधे को ज़्यादा धूप की आवश्यकता होती है इसलिए आप गमले को ऐसी जगह रखें जहाँ 8 से 10 घंटे उसे सूर्य की रोशनी और धूप मिल सके। इसके बाद गमले को खाद वाली मिट्टी से भरे।

टमाटर के बीज कैसे डालें

किसी भी पौधे को लगाने के लिए जो सबसे महत्त्वपूर्ण चीज होता है वह होता है उस पौधे का बीज। आप चाहे तो घर पर भी टमाटर के बीज को निकाल सकते हैं या चाहे तो किसी भी नर्सरी से टमाटर के बीज को खरीद सकते हैं। जब आप मिट्टी में बीज को डालेंगे तब कुछ ही दिनों में बीज अंकुरित होकर पौधे में बदलने लगते हैं और याद रखें हर गमले में एक ही पौधे को रखें ताकि पौधे बहुत ही अच्छे तरीके से बढ़ सके। एक गमले में एक से ज़्यादा पौधे रहने पर वह अच्छी तरह से पढ़ नहीं पाते हैं और उनकी उत्पादन भी कम होती है।

पौधे को कैसे पोषित करें

पौधे को अच्छा पोषण देने के लिए आप खाद के तौर पर बायोडिग्रेडेबल किचन वेस्ट भी डाल सकते हैं जो एक अच्छे खाद का काम करता है। अगर पौधे की पत्तियाँ सूख जाए या टूट जाए तो उसे भी आप उसी मिट्टी में मिला सकते हैं। यह भी पौधे के लिए एक अच्छा पोषण का काम करता है।

पौधे को किसी चीज की सहायता से लकड़ी में बाँध सकते हैं

चुंकि टमाटर का वज़न उसके पौधे की तुलना में ज़्यादा होता है, इसलिए जैसे ही टमाटर उगता है पौधे एक तरफ़ से झुकने लगते हैं। यही कारण है कि पौधे अच्छी तरह से बढ़ नहीं पाते हैं और टमाटर का उत्पादन भी इससे प्रभावित होता है। इसके लिए आप एक सीधी लकड़ी का इस्तेमाल कर, पौधे को किसी चीज की सहायता से लकड़ी में बाँध सकते हैं। या तो आप पहले से ही पौधे के पास एक लकड़ी लगा कर उसे हल्का बाँध दें, जिससे यह समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी।

पौधे की कटाई छटाई और खाद का नियमित तौर पर ध्यान रखें

एक बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि अगर गर्मी के मौसम में अापने टमाटर का पौधा लगाया है, तो आप कम से कम उसमें 2 बार पानी दें और अगर सर्दी का मौसम है तो सिर्फ़ एक बार ही पानी दें, नहीं तो पौधा गल भी सकता है। इसके साथ ही पौधे की कटाई छटाई और खाद का नियमित तौर पर ध्यान रखें। समय-समय पर मिट्टी में खुरपी भी करते रखें ताकि पौधे की जड़ों तक हवा पहुँच सके।

इस तरह आप भी अपने किचन गार्डन में टमाटर के पौधे को लगा सकते हैं और ताजी और फ्रेश टमाटर का कई चीजों में इस्तेमाल कर सकते हैं।