काफी संघर्ष भरा रहा सदाबहार कॉमिक हीरो गोविंदा का बचपन, आर्थिक तंगी के कारण घर तक छोड़ना पड़ा था

    आज हम आपको बॉलीवुड के एक ऐसे कॉमेडी कलाकार के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका जन्म 21 दिसम्बर 1963 को हुआ था। उनका नाम है गोविंदा (Govinda)। यानी गोविंदा अब 57 वर्ष के हो चुके हैं। गोविंदा के पिता जिनका नाम अरुण कुमार अहूजा है, वह भी एक प्रोड्यूसर ही थें। गोविंदा ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत सन 1986 में इल्ज़ाम मूवी के साथ की थी और उसके बाद से अब तक वह 165 से भी अधिक फ़िल्मों में अपने अभिनय का जलवा दिखा चुके हैं।

    गोविंदा के पिता की फ़िल्में लगातार फ्लॉप होने के कारण उनके घर की आर्थिक स्थिति बिल्कुल ही बिगड़ चुकी थी और आर्थिक तंगी इतनी बड़ी कि वह उनके पिता बीमार तक रहने लगे और यही वज़ह है कि उन्हें कार्टर रोड स्थित अपने बंगले को छोड़कर विरार जाकर रहना पड़ा था और यही वह जगह है जहाँ गोविंदा का जन्म हुआ था। इसलिए उनका बचपन भी काफ़ी मुश्किलों से भरा था।

    govida-with-mother

    अपने बारे में बात करते हुए गोविंदा बताते हैं कि मैंने शुरु से बहुत ही संघर्ष किया है। संघर्ष के दिनों में लोगों ने मेरी मुश्किलों को और भी बढ़ा दिया था। लेकिन मैंने बच्चन सर के बारे में देखा था और सुना भी था कि उनके साथ क्या हुआ था। लेकिन मैंने सोचा भी नहीं था कि मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ होगा। लेकिन उनकी मुश्किलों को देखकर मुझे भी प्रेरणा मिली कि कैसे वह अपने इन मुश्किल वाले दिनों से उबरे थे।

    नीलम के साथ काफ़ी दिनों तक अफेयर में रहे

    govinda-with-neelam

    गोविंदा के करियर के शुरुआती दिनों में उनके पहले फ़िल्म इल्ज़ाम की हीरोइन नीलम से उनके अफेयर के भी काफ़ी चर्चे हुए थे। लेकिन आगे चलकर गोविंदा ने सुनीता से शादी कर ली। एक फेमस मैगजीन स्टारडस्ट के साथ इंटरव्यू में गोविंदा ने बताया कि “मैं सुनीता को हमेशा यह कहता था कि वह ख़ुद को बदले और नीलम जैसी बन जाए और उससे कुछ सीखें कई बार सुनीता इस बात से नाराज भी हो जाती और वह कहती मैं जैसी हूँ वैसे ही मुझे तुम प्यार करो। तब मुझे बहुत ज़्यादा कन्फ्यूजन होता है कि मुझे क्या करना चाहिए।”

    रानी मुखर्जी से भी करीबियाँ निभाई

    कई वर्षों बाद एक बार फिर “हद कर दी आपने” , “प्यार दीवाना होता है” और “चलो इश्क़ लड़ाएं” जैसी कुछ फ़िल्मों में एक साथ आने के बाद गोविंदा का नाम रानी मुखर्जी के साथ जोड़ा जाने लगा। वैसे इस दौरान इन दोनों में काफ़ी करीबीयाँ भी आ गई थी। लेकिन दोनों ने पब्लिकली कभी अपने रिश्ते को स्वीकारा नहीं।

    रिपोर्ट्स के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि जैसे ही गोविंदा की पत्नी सुनीता को रानी मुखर्जी और गोविंदा के रिश्ते के बारे में पता चला तो वह गोविंदा से काफ़ी नाराज हो गई थी। बात तो यहाँ तक बिगड़ चुकी थी कि वह गोविंदा को छोड़ अपने बच्चों को लेकर अपने मायके तक चली गई। लेकिन मामला बहुत ज़्यादा बिगड़ता हुआ देख दोनों एक दूसरे से दूरियाँ बना लिए।

    लेकिन आज भी गोविंदा को पर्दे पर देखते ही सबके चेहरे पर एक मुस्कान आ जाती है। उनके चेहरे पर आज भी वही कॉमेडी नज़र आती है जो वर्षों पहले उनके कुछ सुपरहिट फ़िल्मों में नज़र आया करती थी।