अमेरिका ने दी उड़ने वाली कार को मंजूरी, जानिए क्या होगीं इस कार की खूबियाँ

Flying car – हवाई जहाज़ तो आपने बहुत बार देखा होगा। कभी आसमान में उड़ते हुए, कभी ज़मीन पर। हवाई जहाज़ पर बैठने का सपना हम सभी का होता है, लेकिन महंगी टिकट के चलते बस देखकर ही तसल्ली करनी पड़ती है। लेकिन यदि हम आपसे कहें कि अब आप हवाई जहाज़ सिर्फ़ उड़ते ही नहीं। अपने गली-मोहल्ले में भी जल्द ही देख सकते हैं तो आपको कैसा लगेगा।

आप कहेंगे ये कैसा मज़ाक है। भला इतना बड़ा हवाई जहाज़ गली में कैसे उतरेगा। सबसे बड़ी बात उड़ने के लिए उसे रनवे गली में कहाँ से उपलब्ध होगा। तो आइए आपको समझाते हैं आख़िर क्या है इस उड़ने वाले हवाई जहाज़ का पूरा मामला।

अमेरिका में बनी उड़ने वाली कार (Flying car)

अमेरिका (America) में अब एक उड़ने वाली कार (Flying car) बन चुकी है। जो उड़ने के साथ सड़क पर भी दौड़ सकती है। जानकारी के मुताबिक इसकी रफ़्तार 160 किलोमीटर घंटा होगी। ये कार सड़क पर दस फीट तक उड़ कर चल सकती है। साथ ही इसका डिजाइन इस तरह तैयार किया गया है कि इसे घर के गैराज में भी आसानी से पार्क किया जा सकता है। तो है ना ये कमाल की कार।

मिल चुकी है मंजूरी

इस कार को अमेरिका के संघीय उड्डयन प्राधिकरण की तरफ़ से मंजूरी भी दी जा चुकी है। इस कार को टेराफुगिया ट्रांजिशन कंपनी (Terrafugia Transition) के द्वारा बनाया गया है। इस कार को फिलहाल सरकार ने हवाई जहाज़ के तौर पर मंजूरी दी है। इसे अब आराम से आसमान में घूमाया जा सकता है। इसे रोडेबल एयरक्राफ़्ट कैटिगिरी में स्पेशल लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट के तौर पर मंजूरी मिली हुई है।

क्या हैं खूबियाँ (Flying car)

इस फ्लाइंग कार में एक साथ दो लोग बैठकर यात्रा कर सकते हैं। फ्लाइंग कार में 27 फीट चौड़ा पंख लगा हुआ है, जिसे ज़रूरत के मुताबिक खोला और बंद किया जा सकता है। इस कार का वज़न 590 किलो ग्राम है। यह कार 1 मिनट के अंदर ही पूरी उड़ान भरने में सक्षम है। जानकारी के मुताबिक अभी सिर्फ़ इसे हवाई जहाज़ के तौर पर ही मान्यता दी गई है। सड़कों पर इसे अभी नहीं चलाया जा सकता है। उम्मीद की जा रही है कि 2023 तक इसे सड़कों पर भी चलाने की मंजूरी दे दी जाएगी।

कौन चला सकता है ये कार (Flying car)

इसे आम कारों के लाइसेंस वाले लोग नहीं चला सकते। चीनी कंपनी टेराफुगिया ट्रांजिशन (Terrafugia Transition) का कहना है कि इसे चलाने के लिए हवाई जहाज़ वाले पायलट का लाइसेंस होना चाहिए। ताकि इससे किसी तरह की दुर्घटना ना घटे। कंपनी के एक अधिकारी केविन का कहना है कि इस कार को 80 दिनों की फ्लाइंग टेस्टिंग भी सफलतापूर्वक की जा चुको है। क्योंकि इसके पीछे हमारी पूरी टीम ने कड़ी मेहनत की हुई है। एफएए ऑडिट के लिए 150 तकनीकी पेपर भरने के बाद आखिरकार इस कार को मंजूरी मिल चुकी है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि ग्राहक इसे लेने में अपना उत्साह दिखाएंगे। साथ ही जल्द ही इसे अन्य देशों में भी मंजूरी मिलने की सम्भावना जताई जा रही है।