Dragon Fruit Farming: इस फल की खेती से सालाना कमा सकते हैं 8 से 10 लाख रुपए, जानिए कैसे होती है खेती

0
22
Dragon-Fruit-Farming

Dragon Fruit Farming: भारत में साल दर साल विदेशी फलों का चलन तेजी से बढ़ता जा रहा है, जिसकी वजह से भारतीय किसान भी इन फलों की खेती करने के लिए इच्छुक हो रहे हैं। इन्हीं विदेशी फलों में से एक है ड्रैगन फ्रूट, जो थाईलैंड, वियतना, श्रीलंका और इजराइल जैसे देशों में बड़े पैमाने पर उगाया जाता है।

हालांकि अब भारतीय किसानों के बीच भी ड्रैगन फ्रूट की खेती (Dragon Fruit Farming) करने का रूझान बढ़ रहा है, जो खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ बाज़ार में महंगी कीमत पर बिकता है। ऐसे में अगर आप भी चाहे तो ड्रैगन फ्रूट की खेती करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं, जिससे कई प्रकार के प्रोडक्टस तैयार किए जाते हैं।

Dragon-Fruit-Farming

ड्रैगन फ्रूट की खेती (Dragon Fruit Farming)

ड्रैगन फ्रूट को Pitaya के नाम से भी जानते हैं, जिसके बाहर का छिलका पिंक कलर का होता है। इस फल के अंदर भी कीवी की तरह छोटे-छोटे काले रंग के बीज होते हैं, जिसका सेवन करना सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। ड्रैगन फ्रूट की खेती करना बहुत ही आसान है, जिसकी सिंचाई के लिए ज्यादा पानी की जरूरत भी नहीं होती है।

ड्रैगन फ्रूट की फसल उगाने के लिए ज्यादा उपजाऊ मिट्टी की जरूरत नहीं होती है, इसलिए इसे किसी भी जगह पर आसानी से उगाया जा सकता है। ड्रैगन फ्रूट को 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान वाली जगहों पर सबसे ज्यादा उगाया जाता है, जिसे ज्यादा धूप या पानी की जरूरत नहीं होती है।

Dragon-Fruit-Soil

ड्रैगन फ्रूट के लिए मिट्टी (Dragon Fruit Soil)

ड्रैगन फ्रूट के लिए मिट्टी का पीएच लेवल 5.5 से 7 के बीच होना चाहिए, जिसमें बालुई मिट्टी भी शामिल हो सकती है। इस फल की खेती करने के लिए कार्बनिक पदार्थ और रेतीली मिट्टी भी काफी अच्छी साबित होती है, जिसमें ड्रैगन फ्रूट का पौधा बहुत तेजी से पनपनता है।

ड्रैगन फ्रूट को महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान समेत तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक जैसे राज्यों में बड़े पैमाने पर उगाया जाता है, जबकि इन सभी राज्यों के तापमान और मिट्टी की गुवत्ता में जमीन आसमान का फर्क होता है। यानी ड्रैगन फ्रूट को किसी भी राज्य, मिट्टी या तापमान में उगाया जा सकता है, जिसे बहुत ज्यादा देखभाल की जरूरत भी नहीं होती है।

Dragon-Fruit-Cultivation

एक सीजन में तीन बार देता है फल (Dragon Fruit Cultivation)

ड्रैगन फ्रूट का पौधा बहुत ही लाभदायक होता है, जो एक सीजन में कम से कम तीन बार फल देता है। ड्रैगन फ्रूट के एक फल का वजन लगभग 400 ग्राम तक होता है, जबकि ड्रैगन फ्रूट के एक पौधें पर तकरीबन 50 से 60 फल लगते हैं। ऐसे में अगर आप ड्रैगन फ्रूट की खेती करते हैं, तो उससे आपको साल भर कमाई होती रहेगी।

ड्रैगन फ्रूट के पौधे पर मई जून के महीने में फूल आना शुरू हो जाते हैं, जबकि दिसम्बर के महीने पौधे पर फल लगने लगते हैं। एक हेक्टेयर जमीन में ड्रैगन फ्रूट के लगभग 277 से 300 पौध लगाए जा सकते हैं, जिन्हें 2 मीटर की दूरी पर लगाया जाता है। ड्रैगन फ्रूट के पौधे को लगाने के लिए जमीन में 50 सेंटीमीटर का गड्ढा करना होता है, ताकि पौधे की जड़ों को फैलने में मदद मिल सके।

इसके अलावा शुरुआत के दिनों में ड्रैगन फ्रूट के पौधे को लकड़ी या लोहे की छड़ी से बाँध दिया जाता है, ताकि उसे मजबूती से बढ़ने में मदद मिल सके। ऐसे ड्रैगन का पौधा बड़ा होने के बाद एक सीजन में 3 बार फल देता है, जिन्हें अच्छी कीमत पर बाज़ार में बेचा जा सकती है।

Dragon-Fruit-Profit

ड्रैगन फ्रूट से लाखों की कमाई (Dragon Fruit Profit)

ऐसे में अगर आप ड्रैगन फ्रूट की खेती करके आप सालाना अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं, क्योंकि एक ड्रैगन फ्रूट की कीमत 200 से 250 किलोग्राम तक होती है। ड्रैगन फ्रूट का एक ही फल का वजन 400 ग्राम तक होता है, जिसकी वजह से महज 2 ड्रैगन फ्रूट्स को 250 रुपए में बेचा जा सकता है।

इस हिसाब से एक एकड़ की जमीन पर ड्रैगन फ्रूट की खेती करके सालाना 8 से 10 लाख रुपए तक कमाए जा सकते है, हालांकि इस मुनाफे को कमाने के लिए आपको शुरुआत में 4 से 5 लाख रुपए खर्च करने पड़ेंगे।

ड्रैगन फ्रूट के पौधे को ज्यादा सिंचाई की जरूरत नहीं होती है, इसलिए यह कम पानी में भी आसानी से उग जाता है। इसके अलावा यह फल कड़ी धूप और बदलते मौसम की मार भी आसानी से झेल सकता है, जिसकी वजह से ड्रैगन फ्रूट को गर्म इलाकों में भी उगाया जा सकता है।

Dragon-Fruit-Benefit

सेहत के लिए लाभदायक होता है ड्रैगन फ्रूट (Dragon Fruit Benefit)

ड्रैगन फ्रूट का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक माना जाता है, जिसकी वजह से डॉक्टर मरीज को इस फल का सेवन करने की सलाह देते हैं। इस फल को खाने से डायबिटीज और कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल में रहता है, जबकि अर्थराइटिस और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बेहद कम हो जाता है।

आपको बता दें कि ड्रैगन फ्रूट में फैट और प्रोटीन की मात्रा काफी ज्यादा होती है, जिसकी वजह से विदेशों में इसका सेवन काफी ज्यादा किया जाता है। ड्रैगन फ्रूट में पानी की अच्छी खासी मात्रा पाई जाती है, जो शरीर को गर्मियों में तरो ताजा रखने का काम करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here