ऑटो चालक की बेटी ने कर दिखाया कमाल, विदेशी कंपनी ने दिया सालाना 41 लाख रुपए का पैकेज

0
1501
Amruta-Karande-3

संघर्ष करने वाले हर व्यक्ति का जीवन दूसरों के लिए प्रेरणादायक होता है, जिससे लोगों के मन में आत्मविश्वास बढ़ता है। चाहे इंसान कितनी ही बड़ी मुश्किल में क्यों न हो, लेकिन अगर उसके मन में कुछ कर गुजरने की चाह है तो वह आसमान को भी छू सकता है।

ऐसा ही प्रेरणादायक कहानी है अमरुता करंदे (Amruta Karande) की, जिन्होंने छोटी-सी उम्र में कमाल कर दिखाया है। अमरुता एक ऑटो चालक की बेटी हैं, जिन्हें हाल ही में 41 लाख रुपए की सालाना पैकेज वाली नौकरी मिली है। आइए जानते हैं अमरुता करंदे के बारे में-

Amruta-Karande

21 साल की उम्र में भरी ऊंची उड़ान

महाराष्ट्र के कोल्हापुर शहर में रहने वाली 21 वर्षीय अमरुता करंदे कोल्हापुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ती हैं, जो वर्तमान में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में चौथे वर्ष की छात्रा हैं। कोर्स की पढ़ाई पूरी करने के दौरान अमरुता ने प्री प्लेसमेंट में हिस्सा लिया और एक कंपनी में उनका चुनाव हो गया।

अमरुता को नौकरी पर रखने वाली सॉफ्टवेयर कंपनी ADOBE यूएस से ताल्लुक रखती है, जिसने अमरुता को बतौर सॉफ्टवेयर डिवलेपमेंट इंजीनियर का पद दिया है। इस तरह महज 21 साल की उम्र में अमरुता ने न सिर्फ विदेशी कंपनी में नौकरी हासिल की है बल्कि सालाना 41 लाख रुपए का पैकेज भी अपने नाम किया है।

माता पिता को दिया कामयाबी का श्रेय

अमरुता करंदे कोल्हापुर के बहुत ही सामान्य और मध्मयवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखती हैं, इसलिए उनकी यह कामयाबी उनके पूरे परिवार की कामयाबी है। अमरुता के पिता विजय कुमार पेश से एक ऑटो चालक हैं, जिन्होंने बेटी की पढ़ाई के लिए खूब संघर्ष किया है।

अमरुता की मानें तो उनकी इस कामयाबी का श्रेय उनके माता पिता को जाता है, जिन्होंने उन्हें पढ़ने लिखाने के लिए काफी संघर्ष भरा जीवन व्यतीत किया है। अमरुता आगे और पढ़ाई करके भारत में सूचना और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम और रिसर्च करना चाहती हैं।

टीचर्स ने जताई खुशी

कोल्हापुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (KIT) के चेयरमैन सुनील कुलकर्णी अमरुता के चुनाव से काफी ज्यादा खुश हैं, क्योंकि वह पढ़ाई लिखाई में काफी तेज हैं। इससे पहले अमरुता ने कोडिंग कंप्टीशन में-सी रैंक हासिल किया था, जिसके बाद उन्होंने ढाई महीने की इंटर्नशिप भी की थी।

अमरुता ने दिन रात मेहनत करके अलग-अलग एग्जाम दिए और प्री प्लेसमेंट की तैयार की, जिसकी बतौलत उन्हें 41 लाख रुपए के सालाना पैकेज वाली नौकरी मिली है। अमरुता के कॉलेज के चेयरमैन समेत क्लास टीचर्स उनकी कामयाबी से काफी ज्यादा खुश और उत्साहित हैं।आपको जानकर हैरानी होगी कि अमरुता पश्चिमी महाराष्ट्र की पहली ऐसी लड़की है, जिन्होंने इतने हाई पैकेज की नौकरी प्राप्त करने में सफलता हासिल की है। ऐसे में उनके परिवार और इंस्टीट्यूट के टीचर्स का खुश होना लाजिमी है।

कभी डॉक्टर बनना चाहती थी Amruta Karande

अमरुता करंदे बचपन से ही पढ़ाई लिखाई में तेजी थी और स्कूल में भी अच्छे नंबरों से पास होती थी, ऐसे में वह पहले डॉक्टर बनना चाहती थी। लेकिन एसएससी की तैयारी के दौरान और परीक्षा में 97 प्रतिशत पाने के बाद उनका झुकाव इंजीनियरिंग की तरफ बढ़ने लगा।

इस तरह अमरुता ने मेडिकल की पढ़ाई करने के बजाय इंजीनियरिंग करने का फैसला किया, जिसमें उनके माता पिता ने उनका साथ दिया। जिसके बाद अमरुता ने कोल्हापुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी को ज्वाइन किया और आज भारी भरकम पैकेज की नौकरी प्राप्त कर ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here