ऑटो चलाने व गेंहू ढोने को मजबूर हैं ‘पूर्व बॉक्सिंग चैंपियन आबिद खान’ , आनंद महिंद्रा ने बढ़ाया मदद का हाथ

चाहे कोई भी खेल हो, एक खिलाड़ी के लिए खेल उसकी आत्मा से जुड़ा होता है। चाहे वह खेल के मैदान में हार ही क्यों न जाए, पर खिलाड़ी को अपनी वास्तविक हार का अनुभव तब होता है, जब खेल से ही उसका भरोसा ख़त्म हो जाता है और वह खेलना छोड़कर अपने आप से समझौता कर लेता है। ऐसा ही कुछ हुआ, नैशनल बॉक्सर आबिद खान के साथ…

आबिद खान के एक वीडियो ने सभी को झकझोर दिया

पूर्व बॉक्सिंग चैंपियन आबिद खान (Aabid Khan) जिन्होंने कभी देश के लिए बॉक्सिंग में पदक हासिल किया था, आज उनकी आर्थिक परिस्थितियाँ इतनी खराब है कि उन्हें मजबूरी में बॉक्सिंग छोड़ ऑटो चलाने का काम करना पड़ रहा है। आबिद का 17 मिनट का एक वीडियो स्पोर्ट्स गाँव नामक एक यूट्यूब चैनल ने शेयर किया था, जिसने खेल प्रेमियों को झकझोर कर रख दिया और उस वीडियो को देखने के बाद लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

इस वीडियो में आबिद खान ने कहा की, “गरीब इंसान या मध्यम वर्गीय व्यक्ति के लिए सबसे बड़ा अभिशाप यह होता है कि वह गरीब है, तथा उससे बड़ा अभिशाप यह है कि वह एक खेल प्रेमी है। खेलों में समय की बर्बादी के अलावा कुछ नहीं होता है। स्पोटर्समैन होते हुए मैंने इतनी उपलब्धियाँ प्राप्त की, डिप्लोमा भी लिया परन्तु उसके बाद भी मुझे नौकरी नहीं मिली। मैं जहाँ भी गया, वहाँ से यह कहकर निकाल दिया गया कि हमारे पास वैकेंसी नहीं है। बॉक्सिंग में मध्यम वर्गीय अथवा गरीब लोग ही आया करते हैं क्योंकि इसमें मार सहनी पड़ती है। पैसे वाले तो क्रिकेट, लॉन टेनिस, बैडमिंटन खेलते हैं।”

आपको बता दें कि आबिद खान पंजाब यूनिवर्सिटी के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स का प्रतिनिधत्व भी कर चुके हैं। वे 5 सालों तक आर्मी बॉक्सिंग टीम को भी ट्रेनिंग दिया करते थे, परन्तु जब उनको कहीं नौकरी नहीं मिली तो वह ऑटो चलाकर और गेहूँ के कट्टे उठाकर अपने और अपने परिवार का पेट पालने को मजबूर हो गए।

आनंद महिंद्रा मदद के लिए आगे आए

आबिद स्वयं नेशनल लेवल बॉक्सर हैं, परन्तु फिर भी उन्होंने अपने जीवन की परिस्थितियों को देखते हुए दोनों बेटों को स्पोर्ट्स में नहीं जाने दिया, क्योंकि उनका मन खेलों से उचट गया था। आबिद का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया गया और यह वीडियो जब आनंद महिंद्रा ने देखा तो उन्होंने आबिद की सहायता करने का भरोसा दिलाया।

इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए आंनद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने ट्वीट किया की, “मुझे ये बात बहुत अच्छी लगी कि वह किसी मदद की उम्मीद नहीं कर रहे। मुझे परोपकार से ज़्यादा लोगों की प्रतिभा और उनके पैशन में इन्वेस्ट करना पसंद है। कृपया बताएँ कि इनके लिए एक स्टार्टअप बॉक्सिंग अकादमी की शुरुआत किस प्रकार से की जा सकती है” आनंद महिंद्रा के इस वीडियो को देखने के बाद अब लोगों उम्मीद कर रहे हैं आबिद को शीघ्र ही दोबारा स्पोर्ट्स में जाने का अवसर प्राप्त होगा।

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है, जब आंनद महिंद्रा ने सोशल मीडिया पर कोई वीडियो साझा किया है। वे सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव रहते हैं और ऐसे कई वीडियो शेयर करते हैं। साथ ही वे ज़रूरतमंद लोगों की मदद करने में भी पीछे नहीं रहते हैं।