7 चमत्कारी उपाय, लौट आएंगे अच्छे दिन शनि देव की मिलेगी कृपा

    शनि को न्याय का देवता कहा जाता है, कहा जाता है कि यदि कुंडली में शनि दोष है तो जातक को बहुत कष्टकारी जीवन बिताना पड़ता है। वहीं अगर यह अच्छे भाव के है तो जातक के जीवन में खुशहाली बनी रहती है। यदि शनि देव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो करे यह उपाय।

    ये भी पढ़ें – वास्तुशास्त्र में बताई ये 8 गलतियाँ, जिनसे होती है धनहानि, आती है कई समस्याएँ

    माता पिता का करें सम्मान

    यदि शनि देव की कृपा पाना चाहते हैं तो माता पिता को सम्मान दें, उनकी ख़ूब सेवा करें। यदि माता पिता दूर रहते हैं तो फ़ोन से उनसे आशीर्वाद लेते रहना चाहिए।

    शमी की जड़ से होता है फायदा

    यदि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या चल रही है तो, आपको शमी वृक्ष की जड़ काले कपड़े में करके शनिवार की शाम दाहिने हाथ में बाँधना चाहिए, शनि मंत्र का तीन माला जाप करना चाहिए।

    शनि सहस्त्रनाम का करना चाहिए पाठ

    यदि आप शनि से जुड़े दोषों को दूर करना चाहते है तो  आपको शनि सहस्त्रनाम का पाठ या शिव पंचाक्षरी का पाठ करें। इससे शनि का प्रकोप ख़त्म होता है

    सुंदरकांड का करें पाठ

    यदि आपके कुंडली में शनि दोष है तो आपको बजरंगबली की पूजा करनी चाहिए। रोजाना या मंगल और शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

    इस मंत्र का करें जाप

    शनि के प्रकोप को शांत करने के लिये इस-इस मंत्र का जाप करना चाहिए, इससे शनि देव प्रसन्न होते हैं।

    सूर्य पुत्रो दीर्घ देहो विशालाक्ष: शिव प्रिय:। मन्दचारह प्रसन्न आत्मा पीड़ां दहतु में शनि:॥

    शमी के वृक्ष की करे पूजा

    आपको चाहिए कि शमी के पेड़ को घर में लगा के उसकी रोजाना पूजा करना चाहिए। इससे आपके घर का सभी वास्तुदोष दूर हो जाते हैं।

    नीले रंग का अपराजिता का फूल चढ़ाएँ

    शनिवार के दिन शनि देव को नीले रंग का अपराजिता का फूल चढ़ाएँ और काले रंग की बत्ती को लेकर तिल के तेल से जलाएँ। हो सके तो महाराज दशरथ का लिखा शनि स्तोत्र पढ़ें।

    ये भी पढ़ें – बनना चाहते हैं अमीर तो पहनिए कछुए की अंगूठी, जानिए क्या फायदे हैं इसके और कौनसी राशि के लोग ना पहनें